आयुर्वेद शिक्षण और अनुसंधान संस्थान विधेयक 2020 संसद में हुआ पारित

▴ ayurveda-institute-of-teaching-and-research-bill-2020-passed-in-parliament

आयुर्वेद शिक्षण और अनुसंधान संस्थान विधेयक 2020 से संस्‍थान को आयुर्वेद और फार्मेसी में स्‍नातक और स्‍नातकोत्तर शिक्षा में शिक्षण की पद्धति को विकसित करने के लिए अधिक स्‍वायत्तता मिलेगी।


आयुर्वेद शिक्षण और अनुसंधान संस्थान विधेयक 2020 आज संसद द्वारा पारित कर दिया गया है। इससे पूर्व यह विधेयक 19 मार्च, 2020 को लोक सभा में पारित कर दिया गया था। इससे एक अति आधुनिक आयुर्वेदिक संस्‍थान की स्‍थापना का मार्ग प्रशस्‍त हुआ है। जामनगर, गुजरात में स्‍थापित होने वाले इस संस्‍थान का नाम आयुर्वेद शिक्षण एवं अनुसंधान संस्‍थान (आईटीआरए) होगा। इसे राष्‍ट्रीय महत्‍व के संस्‍थान (आईएनआई) का दर्जा दिया जाएगा।

इस आईटीआरए की स्‍थापना गुजरात आयुर्वेद विश्वविद्यालय परिसर, जामनगर में वर्तमान में विद्यमान आयुर्वेद संस्थानों को मिलाकर की जाएगी। यह बहुत प्रख्‍यात संस्‍थानों- (क) आयुर्वेद स्नातकोत्तर शिक्षण और अनुसंधान संस्थान, (ख) श्री गुलाब कुंवरबा आयुर्वेद महाविद्यालय, (ग) आयुर्वेदिक औषधि विज्ञान संस्थान, (घ) महर्षि पतंजलि योग नेचुरोपैथी शिक्षा और अनुसंधान संस्थान (इसे प्रस्तावित आईटीआरए के स्‍वस्‍थवृत्त विभाग का हिस्सा बनाया जाना है) का समूह है। ये संस्थान पिछले कई दशकों के दौरान स्‍थापित हुए हैं और एक-दूसरे के निकट स्थित होने से आयुर्वेद संस्थानों के एक विशिष्‍ट परिवार का निर्माण करते हैं।

यह उम्मीद है कि इस प्रस्ताव के विधान से इस संस्‍थान को आयुर्वेद और फार्मेसी में स्‍नातक और स्‍नातकोत्तर शिक्षा में शिक्षण की पद्धति को विकसित करने के लिए अधिक स्‍वायत्तता मिलेगी। विभिन्न घटक संस्थानों के बीच समन्‍वय से आईटीआरए को इस प्रकार की शिक्षा के उच्‍च मानकों का प्रदर्शन करने और पूरे आयुष क्षेत्र में एक प्रकाश स्‍तंभ संस्‍थान के रूप में उभरने में मदद मिलेगी। इससे फार्मेसी सहित आयुर्वेद की सभी प्रमुख शाखाओं में कर्मियों को उच्‍च स्‍तर का प्रशिक्षण प्राप्‍त होने और आयुर्वेद के क्षेत्र में गहन अध्‍ययन और अनुसंधान किए जाने की उम्‍मीद है।    

आईटीआरए आयुष क्षेत्र में आईएनआई के दर्जे वाला पहला संस्‍थान होगा। इससे संस्‍थान को पाठ्यक्रम सामग्री और शिक्षाशास्‍त्र के मामले में निर्णय लेने में स्‍वतंत्र और नवाचारी बनने में मदद मिलेगी। यह निर्णय ऐसे समय आया है जब परंपरागत ज्ञान पर आधारित स्‍वास्‍थ्‍य समाधानों में वैश्विक दिलचस्‍पी अप्रत्‍याशित रूप से बहुत ऊंचे स्‍तर पर है और आईटीआरए आयुर्वेद शिक्षा को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए तैयार है।

Tags : #Ayurvedainstitute #newbill #ayurveda #newlaw #parliament

About the Author


Ranjeet Kumar

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल से पत्रकारिता में मास्टर डिग्री. न्यूज़ चैनल, प्रोडक्शन हाउस, एडवरटाइजिंग एजेंसी, प्रिंट मैगज़ीन और वेब साइट्स में विभिन्न भूमिकाओं यथा - हेल्थ जर्नलिज्म, फीचर रिपोर्टिंग, प्रोडक्शन और डायरेक्शन में 10 साल से ज्यादा काम करने का अनुभव.
नोट- अगर आपके पास भी कोई हेल्थ से संबंधित ख़बर या स्टोरी है, तो आप हमें मेल कर सकते हैं - [email protected] हम आपकी स्टोरी या ख़बर को https://hindi.medicircle.in पर प्रकाशित करेंगे

Related Stories

Loading Please wait...
-Advertisements-



Trending Now

सोडियम की कमी से स्वास्थ्य पर पड़ता है बुरा प्रभावSeptember 22, 2020
अपेंडिक्स के लक्षण को जाने और समय पर इलाज करवाएंSeptember 22, 2020
डिप्थीरिया की बीमारी से बचाने के लिए बच्चों को समय पर टीका ज़रूर दिलाएंSeptember 22, 2020
डाइजेशन सिस्टम बनाये स्ट्रोंग, इन छोटी-छोटी बातों का रखें ध्यानSeptember 22, 2020
फैटी लिवर को इस तरीके से करे खत्मSeptember 22, 2020
बस कुछ मिनटों में आएगा कोरोना टेस्ट का रिजल्टSeptember 22, 2020
कीड़े के काट जाने पर करें ये काम, खुजली, सूजन और लालपन से मिलेगा छुटकाराSeptember 22, 2020
देश में रिकॉर्ड संख्या में कोरोना मरीज हुए ठीक, पिछले 24 घंटे में एक लाख से अधिक रोगी हुए ठीक September 22, 2020
कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित 5 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीSeptember 22, 2020
लोकसभा ने होम्योपैथी केंद्रीय परिषद (संशोधन) विधेयक, 2020 किया पारितSeptember 22, 2020
संसद ने महामारी रोग (संशोधन) विधेयक, 2020 को दी मंजूरीSeptember 22, 2020
नीति आयोग ने जारी की 'दीर्घकालिक स्‍वास्‍थ्‍य लाभ पर विशेष रिपोर्ट'September 22, 2020
'फिट इंडिया अभियान' के मौके पर प्रधानमंत्री करेंगे लोगों को फिटनेस के प्रति जागरूकSeptember 22, 2020
स्मार्टफोन से निकलने वाली रोशनी स्कीन के लिए है ख़तरनाक- शोध में हुआ खुलासाSeptember 21, 2020
भारत में 2025 के बाद अल्जाइमर से पीड़ित मरीजों की संख्या होगी अधिकSeptember 21, 2020
हल्दी में छिपा है हड्डियों में हो रहे दर्द का इलाज September 21, 2020
इन घरेलू नुस्खे से रखें अपने दिल का ख्यालSeptember 21, 2020
कब क्या खाना चाहिए, यह जानना जरूरी हैSeptember 21, 2020
महिलाएं अधिक हो रही हैं सर्वाइकल कैंसर की शिकार, जाने लक्षणSeptember 21, 2020
जाने क्या है फॉल्स प्रेग्नेंसी? व इसके कारण और लक्षणSeptember 21, 2020