हर लड़की को कराने चाहिए ये 5 मेडिकल चेकअप

▴ every-girl-should-get-these-5-medical-checkups

यदि आपको लगता है कि आप फिट हैं और किसी चेकअप की जरूरत नहीं है तो शायद आप गलत हैं. अपने बिजी शड्यूल से समय निकालकर आपको 6 महीने या सालभर में अपना पूरा हेल्थ चेकअप करावाना चाहिए.


समय समय पर हर व्यक्ति को शारीरिक जांच करवानी चाहिए. इससे बॉडी में हो रही हलचल और बीमारी के विकास के बारे में जानकारी मिलती है. महिलाओं को अक्सर 40 साल की उम्र के बाद हेल्थ चेकअप करवाने की सलाह दी जाती है. लेकिन आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी और बदलते लाइफस्टाइल के चलते 18 की उम्र के बाद ​हेल्थ चेकअप कराना जरूरी हो गया है. यदि आपको लगता है कि आप फिट हैं और किसी चेकअप की जरूरत नहीं है तो शायद आप गलत हैं. अपने बिजी शड्यूल से समय निकालकर आपको 6 महीने या सालभर में अपना पूरा हेल्थ चेकअप करावाना चाहिए.

18 की उम्र के बाद चेकअप- समय समय पर हर व्यक्ति को शारीरिक जांच करवानी चाहिए. इससे बॉडी में हो रही हलचल और बीमारी के विकास के बारे में जानकारी मिलती है. महिलाओं को अक्सर 40 साल की उम्र के बाद हेल्थ चेकअप करवाने की सलाह दी जाती है. लेकिन आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी और बदलते लाइफस्टाइल के चलते 18 की उम्र के बाद ​हेल्थ चेकअप कराना जरूरी हो गया है. यदि आपको लगता है कि आप फिट हैं और किसी चेकअप की जरूरत नहीं है तो शायद आप गलत हैं. अपने बिजी शड्यूल से समय निकालकर आपको 6 महीने या सालभर में अपना पूरा हेल्थ चेकअप करावाना चाहिए.

ब्लड प्रेशर- 18 की उम्र के बाद शरीर में कई तरह के हार्मोनल चेंजेज होते हैं, जिसका असर ब्लड प्रेशर पर भी पड़ता है. दरअसल नॉर्मल ब्लड प्रेशर 120/80 मम एचजी होता है. जब आप अपने ब्लड प्रेशर की जांच कराएंगे तो आपको पता चल जाएगा कि आपका सामान्य है या फिर कम या ज्यादा है. जिन महिलाओं को किडनी, हार्ट या डायबिटीज जैसी समस्याएं होती हैं उन्हें अपने ब्ल्ड प्रेशर की जांच को लेकर सतर्क रहना चाहिए और जरा सी अनियमितता दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

डायबिटीज- डायबिटीज ऐसी बीमारी है जो खराब लाइफस्टाइल के चलते लोगों को अपनी चपेट में रही है. भारत ऐसा देश है जहां सबसे ज्यादा मधुमेह के मरीज हैं. युवा उम्र के लोगों में यह रोग तेजी से बढ़ रहा है. महिलाओं के लिए 140/80 मम एचजी सामान्य डायबिटीज होता है. इसलिए यदि आपने हाल ही में 18 साल की उम्र पार की है तो अपना डायबिटीज चेकअप जरूर कराएं. क्योंकि यदि लंबे समय तक डायबिटीज को इग्नोर किया जाए तो यह अन्य स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म देने के साथ ही जानलेवा भी सकता है.

दांतों का चेकअप- अक्सर लोगों अपने ओरल हेल्थ को इग्नोर करते हैं. जबकि ऐसा कभी नहीं करना चाहिए. हर व्यक्ति् को खासकर कि जब कोई महिला 18 की उम्र पार करती है तो उसे नियमित अपने दांतों का चेकअप कराना चाहिए. क्योंकि इस उम्र में पायरिया, कैविटी, मसूड़ों की समस्या और मुंह से दुर्गंध आना आम हो जाता है. इसलिए छह महीने या एक साल के अंतराल में डेंटल चेकअप जरूर करवाते रहें.

आंखों का चेकअप- आई चेकअप भी समय-समय पर कराते रहना चाहिए. लेकिन अगर आपने 18 की उम्र पार कर ली है और अभी तक एक बार भी आई चेकअप नहीं कराया है तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. क्योंकि कई बार आई संबंधी रोग के लक्षण शुरुआत में दिखते नहीं हैं या हल्के दिख सकते हैं. बाद में ये परेशानी का सबब न बनें इसलिए साल में कम से कम एक बार आंखों की जांच अवश्य करवाएं.

थायरॉइड चेकअप- उम्र बढ़ने के साथ महिलाओं में थायरॉइड रोग भी जन्म ले लेता है. जब आप थायरॉइड का टेस्ट कराती हैं तो हाइपोथायराइडिज्म और हाइपरथायराइडिज्म की जानकारी मिलती है. इस टेस्ट को एक साल में एक बार करवाना चाहिए. रिसर्च बताती है कि पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में थायराइड की समस्या अधिक होती है. जबकि 35 साल से ज्यादा उम्र की महिलाओं में हाइपोथायराइडिज्म का खतरा ज्यादा होता है.

 

Tags : #Every #girl #should #medical #checkups

About the Author


Taniya Chhari

Healthcare Journalist, and a content writer, Experienced Theatre artist, and belly dancer. [email protected] हम आपकी स्टोरी या ख़बर को https://hindi.medicircle.in पर प्रकाशित करेंगे.

Related Stories

Loading Please wait...
-Advertisements-



Trending Now

मुंबई के केईएम अस्पताल में कोरोना वैक्सीन का ट्रायल हुआ शुरूSeptember 26, 2020
आयुष मंत्रालय ने 'पोषण आहार' पर आयोजित किया वेबिनार, दुनियाभर के विशेषज्ञों ने लिया भागSeptember 26, 2020
अलग-अलग उम्र की महिलाओं को जरूरत होती है अलग-अलग पोषक तत्व की, जाने क्या है वोSeptember 26, 2020
सरकार ने भारतीय चिकित्सा परिषद की जगह बनाया राष्ट्रीय चिकित्सा आयोगSeptember 26, 2020
सरकार संक्रमण को कंट्रोल करने हेतु 'चेज द वायरस' रणनीति पर कर रही है कामSeptember 26, 2020
देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 59 लाख के पारSeptember 26, 2020
जाने बच्चो में हकलाने का कारण एवं लक्षणSeptember 26, 2020
एम्स, दिल्ली की स्थापना के 65 वर्ष हुए पूरे, डॉ. हर्षवर्धन ने दी बधाईSeptember 26, 2020
शोध में खुलासा - मधुमेह की दवा हार्ट अटैक के ख़तरे को कर सकता है कमSeptember 25, 2020
जम्मू-कश्मीर में 21 आयुष और स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों की हुई शुरूआतSeptember 25, 2020
औषधीय पौधों की खेती को बढ़ावा देने हेतु राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड ने किया हर्बल उद्योगों के साथ समझौताSeptember 25, 2020
आयुष मंत्रालय करवा रहा है“आयुष फॉर इम्युनिटी” नामक ई-मैराथन का आयोजनSeptember 25, 2020
आयुष मंत्रालय ने 'योग ब्रेक प्रोटोकॉल' का अभ्यास फिर से किया शुरूSeptember 25, 2020
क्या कोरोना से बचने में गुडूची सहायक है? आयुष मंत्रालय करेगा नैदानिक अध्ययनSeptember 25, 2020
गायक एस. पी. बालासुब्रह्मण्यम का कोरोना से हुआ निधन, संगीत प्रेमियों में शोक की लहरSeptember 25, 2020
देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 58 लाख के पारSeptember 25, 2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिया स्वास्थ्य के लिए 'फिटनेस की डोज़, आधा घंटा रोज' का मंत्र September 25, 2020
कोरोना काल में ई-संजीवनी ओपीडी सेवा मरीजों के लिए बना वरदानSeptember 24, 2020
रिकॉर्ड संख्या में कोरोना मरीज दे रहे हैं वायरस को मातSeptember 24, 2020
आपके लिवर की सुरक्षा, आपके हाथSeptember 24, 2020