साबधान : इन स्किन टोनर मिथ पर कभी न करें विश्वास, हो सकती है परेशानी

▴ साबधान : इन स्किन टोनर मिथ पर कभी न करें विश्वास, हो सकती है परेशानी

टोनर में अल्कोहल नहीं होता है और ये चेहरे को गोरा बनाने के साथ-साथ सुखदायक इंग्रीडियंट्स से भरे होते हैं, जो आपकी त्वचा में संतुलन, हाइड्रेशन और आपकी स्किन को शांत करने का काम करते हैं.


मौजूदा वक्त में टोनर चेहरे पर लालपन और ड्राईनेस पैदा करने वाले चीजों में से एक नहीं है. दरअसल टोनर में अल्कोहल नहीं होता है और ये चेहरे को गोरा बनाने के साथ-साथ सुखदायक इंग्रीडियंट्स से भरे होते हैं, जो आपकी त्वचा में संतुलन, हाइड्रेशन और आपकी स्किन को शांत करने का काम करते हैं. हालांकि लोगों के बीच में टोनर को लेकर कुछ गलतफहमियां हैं, जिनकी सच्चाई जानना आपके लिए बहुत ज्यादा जरूरी है. इस लेख में हम आपको टोनर से जुड़े कुछ मिथकों के बारे में बता रहे हैं, जिनसे आपको छुटकारा पाने की आवश्यकता है. तो आइए जानते हैं टोनर से जुड़ी कुछ सच्चाईयां.

मिथः टोनर स्किन को बहुत रूखा बना देते हैं

अगर आप बिना ड्राई एल्कोहल वाला टोनर चुनते हैं, तो यह आपकी स्किन के लिए काफी संतुलन वाला और मॉइस्चराइजिंग टोनर हो सकता है. कई प्रकार के अच्छे टोनर हैं, जो इन दिनों बाजार में उपलब्ध हैं. अगर आपको टोनर के इस्तेमाल के बाद तंग, असहजता महसूस हो रही है तो ये टोनर में मौजूद एल्कोहल के कारण होता है. दरअसल ये त्वचा की नमी को दूर कर देता है, जिसके कारण त्वचा का पीएच स्तर खराब हो जाता है. इन सब चीजों के कारण आपके चेहरे पर लंबे वक्त तक ऑयलीनेस रहती है और नमी की कमी हो जाती है.

मिथः अगर आप क्लीन्जर का उपयोग करते हैं, तभी करें स्किन टोनर का प्रयोग

टोनर स्किन को साफ करने के बाद एक बीच का स्टेप होता है ताकि आप अपनी स्किन को सीरम और मॉइस्चराइजर जैसे अन्य उत्पादों के लिए तैयार कर सकें. एक टोनर वह काम कर सकता है जो एक क्लींजर पूरी तरह से नहीं कर सकता है. यह आपके चेहरे पर बचे तेल, किसी भी प्रकार की गंदगी, प्रदूषण या बैक्टीरिया को हटा सकता है. हालांकि टोनर का उपयोग क्लीन्जर के विकल्प के रूप में नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि इसमें इमल्सीफाइंग गुण नहीं होते हैं जो क्लीन्जर में नहीं होते हैं.

टोनर में कठोर गुण होते हैं

टोनर वास्तव में चेहरे पर सूजन लाने वाले कारणों को हटाने का एक सुरक्षित और प्रभावी तरीका हो सकता है. इसलिए आपको अपनी स्किन पर स्क्रब का उपयोग करने के बजाय एक जेंटल रासायनिक एक्सफोलिएटर के रूप में टोनर का उपयोग करना चाहिए. अगर आपकी त्वचा पर अत्यधिक तेल को नियंत्रित करने की आवश्यकता हो तो सैलिसिलिक एसिड या एक ग्लाइकोलिक एसिड टोनर अद्भुत काम करता है. ढीली होती त्वचा के लिए, पॉलीहाइड्रोक्सी एसिड टोनर का उपयोग करें. शुष्क त्वचा के लिए, लैक्टिक एसिड-आधारित टोनर का उपयोग करें, जो त्वचा को शांत करने में मदद करेगा और स्किन को हाइड्रेट भी करेगा.

टोनर छिद्रों को सिकोड़ता हैं

छिद्र खुले और बंद होने वाले दरवाजों की तरह बिल्कुल नहीं होते हैं, इसलिए आप व्यावहारिक रूप से उन्हें छोटा नहीं कर सकते हैं या फिर इनका आकार नहीं बदल सकते हैं. हालांकि, आपके रोम छिद्र बंद होने की संभावना है. इसलिए साफ छिद्र छोटे हैं. यह वह जगह है जहां टोनर की भूमिका सबसे ज्यादा अहम होती है. एसिड-आधारित टोनर सेल टर्नओवर में सुधार करने और गंदगी, मेकअप और तेल अवशेषों को साफ करने के लिए उन्हें अवशोषित करने में सक्षम होते हैं.

सेंसेटिव स्किन वालों को नहीं उपयोग करने चाहिए टोनर

टोनर काफी हल्के होते हैं और इसलिए वे आपकी त्वचा में बहुत अच्छी तरह से अंदर तक चले जाते हैं. अगर आपकी स्किन सेंसेटिव है, तो ऐसे टोनर का विकल्प चुनें जिसमें त्वचा को शांत करने वाले तत्व हों. अपने टोनर में कैमोमाइल और पंथेनॉल जैसी सामग्री को चुनें. इस प्रकार के टोनर पीएच स्तर को संतुलित करेंगे और आपकी त्वचा को हाइड्रेट करेंगे. जरूरत पड़ने पर इनका इस्तेमाल दिन में दो बार किया जा सकता है. एक टोनर में अन्य सामग्री ग्लिसरीन, एलोवेरा और गुलाब जल शामिल हो सकता है.

 

Tags : #Never #believe #skin #toner #myth #troublesome

About the Author


Taniya Chhari

Healthcare Journalist, and a content writer, Experienced Theatre artist, and belly dancer. [email protected] हम आपकी स्टोरी या ख़बर को https://hindi.medicircle.in पर प्रकाशित करेंगे.

Related Stories

Loading Please wait...
-Advertisements-



Trending Now

बिहार में मास्क नहीं पहनने पर अब लगेगा 5 सौ रुपए का जुर्मानाNovember 25, 2020
बिहार में मास्क नहीं पहनने पर अब लगेगा 5 सौ रुपए का जुर्मानाNovember 25, 2020
कोरोना काल में जन्में बच्चों का कैसे करें देखभालNovember 25, 2020
महाराष्ट्र में आने से 72 घंटे पहले यात्रियों को कोरोना की होगी जांच November 25, 2020
बवासीर के रोगियों के लिए मूली एवं इसके पत्तों की सब्जी खाना है बेहद फायदेमंदNovember 25, 2020
अच्छी नींद हार्ट अटैक के खतरे को करता है कमNovember 25, 2020
भारत में अबतक साढ़े तेरह करोड़ लोगों का हुआ कोरोना टेस्ट November 25, 2020
मास्क न पहनने की वजह, कोरोना ने लिया महामारी का रूप November 25, 2020
दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस की एक बड़ी वजह है वायु प्रदूषण November 25, 2020
जाने अधिक संतरा खाने के नुकसान November 25, 2020
सर्दियों में रोज़ हरी मटर खाने से रहेंगी हड्डियां मज़बूतNovember 25, 2020
वैक्सीन उत्पादन में होगी भारत की बड़ी भूमिका - डॉ हर्षवर्धनNovember 25, 2020
ब्लैकहेड्स हटाने के लिये अपनाये इस होममेड स्क्रब को, जाने बनाने का तरीका November 25, 2020
दांत में फोड़ा हो जाने पर क्या करना चाहिये, जाने इसके लक्षणNovember 25, 2020
महाराष्ट्र में कोरोना टीके के वितरण के लिए कार्यबल का किया गया गठनNovember 25, 2020
बस ये 5 चीज आहार में कर ले शामिल, घट जाएगा बढ़ा हुए वजनNovember 24, 2020
सर्दी के मौसम में ऐसी गलती आप न करें, नहीं तो हो सकते हैं बीमारियों के शिकारNovember 24, 2020
सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना टेस्ट के लिए आरटी-पीसीआर जांच के मुल्य निर्धारण हेतु केंद्र सरकार को जारी किया नोटिस November 24, 2020
अगर बिगड़ा हुआ है आपका पाचन, तो करें अनानास का नित्य सेवनNovember 24, 2020
जाने ऐसी पांच सब्जियों के बारे में, जो इम्यूनिटी पॉवर बढ़ाने में मदद करते हैंNovember 24, 2020