फार्मा क्षेत्र में 2030 तक 120 बिलियन डॉलर निवेश की संभावना

▴ फार्मा क्षेत्र में 2030 तक 120 बिलियन डॉलर निवेश की संभावना

फार्मा क्षेत्र के 2024 तक 65 बिलियन-डॉलर और 2030 तक 120 बिलियन-डॉलर के उद्योग और मेडिकल डिवाइस उद्योग के 2025 तक 50 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की संभावना है।


केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री श्री डी. वी. सदानंद गौड़ा ने कहा कि भारत में फार्मा और मेडिकल डिवाइस क्षेत्र में निवेश करने का यह सबसे अच्छा समय है। फार्मा क्षेत्र के 2024 तक 65 बिलियन-डॉलर और 2030 तक 120 बिलियन-डॉलर के उद्योग और मेडिकल डिवाइस उद्योग के 2025 तक 50 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की संभावना है।श्री गौड़ा  नई दिल्ली में "सीआईआई लाइफ साइंस कॉन्क्लेव 2020" के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा, सरकार द्वारा किए गए व्यापार अनुकूल सुधारों ने भारत को उभरती अर्थव्यवस्थाओं में सबसे अच्छे निवेश स्थलों में से एक के रूप में उभरने में मदद की है। वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिए नीतियों के कार्यान्वयन और भ्रष्टाचार की जांच करने और श्रम कानूनों व नियमों के अनुपालन में ढील ने भारत को निवेश के लिए सबसे अच्छा गंतव्य बना दिया है। 2018-19 में, भारत ने 73 बिलियन डॉलर का एफडीआई प्रवाह आकर्षित किया, जो पिछले वर्ष से 18 प्रतिशत अधिक है। विशेष रूप से फार्मा और चिकित्सा उपकरण क्षेत्र का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा, भारत में इस क्षेत्र में निवेश करने का यह सबसे उपयुक्त समय है क्योंकि 2024 में 65 बिलियन-डॉलर के फार्मा उद्योग के 2030 तक 120 बिलियन-डॉलर उद्योग में विकसित होने की संभावना है और चिकित्सा उपकरण क्षेत्र के प्रति वर्ष 28 प्रतिशत की दर से बढ़कर 2025 तक 50 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की क्षमता है 

केंद्रीय मंत्री ने कहा, भारतीय फार्मा और चिकित्सा उपकरण क्षेत्र में अगले 4-5 साल में भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने की दिशा में योगदान करने की अपार संभावना है। इस संदर्भ में, भारत सरकार पूरे देश में स्टेट ऑफ आर्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर और विश्व स्तरीय सेंटर्स ऑफ एक्सीलेंस के साथ ​मिलकर तीन बल्क ड्रग और चार मेडिकल डिवाइस पार्क विकासित कर रही है। सरकार घरेलू निर्माताओं को स्तरीय अवसर सुनिश्चित करने के लिए योग्य नई विनिर्माण इकाइयों को उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन (पीएलआई) भी प्रदान करेगी।

कोविड-19 के संकट की इस घड़ी के दौरान फार्मा उद्योग के योगदान पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय फार्मा और चिकित्सा उपकरण उद्योग इस अवसर पर आगे बढ़ने में सक्षम थे। सही नीतियों के माध्यम से मेगा बल्क ड्रग और मेडिकल डिवाइस पार्क का विकास कर संकट को अवसरों में बदला जा रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी इस अवधारणा की प्रारंभिक अवस्था से स्वयं व्यक्तिगत रूप से इसमें शामिल रहे हैं। उम्मीद है कि बल्क ड्रग एंड मेडिकल डिवाइस पार्क के विकास के लिए केंद्र सरकार की ये योजनाएं 78,000 करोड़ रुपये के कुल निवेश को आकर्षित करेगी और लगभग 2.5 लाख रोजगार पैदा कर सकती है।

उन्होंने कहा, लाखों भारतीयों के लिए यह बहुत गर्व की बात है कि शुद्ध रूप आयात करने वाले से लेकर, भारत दुनिया में पीपीई किट का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक बन गया, जिसकी दैनिक उत्पादन क्षमता प्रतिदिन 5 लाख से अधिक है। इसी तरह, बहुत कम समय के भीतर, वेंटिलेटर की स्वदेशी उत्पादन क्षमता बढ़कर 3 लाख प्रति वर्ष हो गई है। हमने एन-95 मास्क के उत्पादन में भी आत्मनिर्भरता हासिल की है।

श्री गौड़ा ने कहा कि दवाओं के प्रमुख वैश्विक आपूर्तिकर्ताओं में से एक के रूप में बने रहने के लिए फार्मा उद्योग के लिए अनुसंधान एवं विकास (आरएंडडी) गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। जब तक हम नई दवा की खोज या भारत में नई खोज नहीं करेंगे तब तक विकास की पूरी संभावना का पूरी तरह से दोहन नहीं हो सकता है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि भारतीय फार्मा क्षेत्र कोविड-19 के लिए कम लागत वाले टीकों का विकास और आपूर्ति करने वाले पहले देशों में से एक होगा।

उन्होंने कोविड-19 के बाद भारतीय फार्मा सेगमेंट की प्रतिस्पर्धा के नए युग में प्रवेश करने में मदद करने के लिए दुनिया भर में हितधारकों को आवश्यक मंच प्रदान करने और उनके विचारों को शामिल करने के लिए सीआईआई लाइफ साइंसेज कॉन्क्लेव के प्रयासों की सराहना की।

इस अवसर पर निवर्तमान सचिव और नए ट्राई अध्यक्ष श्री पी. डी. वाघेला,  बायोटेक्नोलॉजी विभाग की सचिव डॉ. रेणु स्वरूप, ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया डॉ. वीजी सोमानी, सिप्ला लिमिटेड के कार्यकारी उपाध्यक्ष सुश्री समीना हामिद, सीआईआई बॉयो टेक्नोलॉजी कमेटी के अध्यक्ष डॉ. राजेश जैन, सीआईआई कमेटी ऑफ फार्मा के अध्यक्ष श्री जी वी प्रसाद, सीआईआई कमेटी ऑफ फार्मा एंड कैप्टनस ऑफ इंड्रस्टी के उपाध्यक्ष श्री विवेक कामथ उपस्थित थे।

Tags : #pharma #pharmasector #medicalinstrument #medicaldivice #medicalfield #pharmasectror

About the Author


Ranjeet Kumar

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल से पत्रकारिता में मास्टर डिग्री. न्यूज़ चैनल, प्रोडक्शन हाउस, एडवरटाइजिंग एजेंसी, प्रिंट मैगज़ीन और वेब साइट्स में विभिन्न भूमिकाओं यथा - हेल्थ जर्नलिज्म, फीचर रिपोर्टिंग, प्रोडक्शन और डायरेक्शन में 10 साल से ज्यादा काम करने का अनुभव.
नोट- अगर आपके पास भी कोई हेल्थ से संबंधित ख़बर या स्टोरी है, तो आप हमें मेल कर सकते हैं - [email protected] हम आपकी स्टोरी या ख़बर को https://hindi.medicircle.in पर प्रकाशित करेंगे

Related Stories

Loading Please wait...
-Advertisements-



Trending Now

देश में पिछले 24 घंटे में नए कोरोना संक्रमितों की संख्या घटीNovember 30, 2020
जाने बायोटिन के फायदे और डोज़November 30, 2020
जाने विटामिन बी कॉम्प्लेक्स के फायदेNovember 30, 2020
मिशन कोविड सुरक्षा हेतु भारत सरकार ने 9 सौ करोड़ रूपए के पैकेज का ऐलान किया November 30, 2020
कोरोना की जांच अब होगी और भी आसान, भारतीय वैज्ञानिकों ने विकसित की नई जांच पद्धतिNovember 30, 2020
अच्छी ख़बर दिल्ली में कोरोना की रफ्तार पर लगाम, प्राइवेट लैब में अब कम कीमत पर होगा कोरोना टेस्ट November 30, 2020
होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना पीड़ितों की जरा सी लापरवाही से घरवाले हो सकते हैं संक्रमितNovember 30, 2020
सर्दी में कम पानी पीना पड़ सकता है स्वास्थ्य के लिए महंगा November 30, 2020
विश्व एड्स दिवस- सुरक्षा ही बचाव हैNovember 30, 2020
दिमाग और दिल के लिए गोभी की सब्जी खाना बेहतर है, साथ ही यह इम्यूनिटी भी करता है बूस्ट November 30, 2020
जिम जाने की नहीं है जरूरत , बस अपना लें ये घरेलू नुस्खा कम हो जाएगा आपका वजन November 30, 2020
कोरोना वैक्सीन अपटेड - प्रधानमंत्री ने कोरोना वैक्सीन बनाने वाली तीन टीमों के साथ की ऑनलाइन बैठक November 30, 2020
मल्‍टीविटामिन है बेहद काम की चीज़ जाने इसके फायदे और नुकसानNovember 30, 2020
जाने सेब के सिरके के फायदेNovember 30, 2020
खाना खाने के बाद यदि रहता हो पेट भारी-भारी, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खें, फौरन आराम मिलेगाNovember 28, 2020
नियमित रूप से चावल खाकर भी हासिल किया जा सकता है फिटनेस, जाने चावल खाने के और क्या है फायदे November 28, 2020
भोपाल में कोरोना वैक्सीन का तीसरा ट्रायल शुरूNovember 28, 2020
दिल्ली में नहीं लग पा रहा है कोरोना पर लगाम, एक दिन में 98 लोगों की मौतNovember 28, 2020
दिल का रखता है ख्याल शहद, जाने और भी फायदेNovember 28, 2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिया वैक्सीन निर्माण का जायजाNovember 28, 2020